plus Sad Poem in Hindi on Life ~ NR HINDI SECRET DIARY

Sad Poem in Hindi on Life



जिंदगी क्या है??

Sad Poem in Hindi on Life, poem on life in hindi, poetry on life in hindi, hindi poem
Sad Poem in Hindi on Life

ख़ुशी और गम के बीच  हिलोरे गाती वो हवाएँ जो कब किस और मुड़ जाये,
कब किसके साथ हो जाए, कब किसके जिंदगी में ख़ुशी ला दे या कब किसके सामने विपदा बनकर खड़ी हो जाये।  कोई नहीं जानता, 
में रिंकल कुम्भट अपनी इस कविता से आप सब से कुछ सवाल पूछना चाहती हु , जिसका उत्तर आज तक मुझे मिल न पाया। 


जिंदगी मेलोडी चॉक्लेट  है या बबल गम या इन दोनों का mixture है ??


ख़ुशी और गम के बीच ज्यादा फासला नहीं होता है 
ख़ुशी को गम में तब्दील होने में वक़्त भी कहा लगता है 
जो दिल में होते है अक्सर वो ही रुलाया करते है 
 देकर अपने यादें नयी दुनिया बसाया करते है। 

पर एक प्रश्न बार बार मेरे जेहन में आता है 
क्या ख़ुशी मेलोडी चॉक्लेट की तरह होती है 
मुँह में जब तक रहे तब तक बहुत अच्छी लगती है
कुछ देर बाद वही जीभ फीकी हो जाती है। 

गम तो साया की तरह साथ चलता है 
बबल गम की तरह निचोड़ के चलता है 
खुशी फिर खिड़कियों से हमे पुकार रही होती है 
पर गम तो कहा हमारा पीछा छोड़ पाता है। 

मेने ख़ुशी को आंसूं बहाते हुए देखा है 
अंधकार में दीप जलाकर रौशनी को  बुलाते हुए देखा है 
अक्सर जो ज्यादा खुश रहते है 
उन्हें भी मैंने किसी कोने में सिसकिया लेते हुए देखा है। 

जिंदगी एक पहेली ही है 
कभी बन जाती मेलोडी की तरह स्वादिष्ट है 
कभी बबल गम की तरह हमे निचोड़ कर फेक कर देती हमे कष्ट है 
हमे सोचते रहते है और वो अपना नया पन्ना खोल देती है 
हमारे इम्तिहान लेकर ही देती वो हमे ग्रेड है। 

क्या यही जिंदगी है ?
कमेंट_ _ _ _ _ 

Previous
Next Post »

No comments:

Post a Comment