plus Best Motivational Poem on Success-क्यों फिरते हो तुम डगर डगर ~ NR HINDI SECRET DIARY

Best Motivational Poem on Success-क्यों फिरते हो तुम डगर डगर

Best Motivational Poem on Success, success poem in hindi, poem on mehnat
Best Motivational Poem on Success-क्यों फिरते हो तुम डगर डगर

क्यों फिरते हो तुम डगर डगर 
क्यों न तुम कुछ करते हो 
सपनो का महल बनाकर 
अंगड़ाई तुम लेते हो। 

अरमान तुम्हारे ऊँचे ऊँचे 
पर तुम क्यों ठहरे हो 
मंज़िल अभी बहुत दूर 
पथिक हिम्मत तुम क्यों हारे हो 

आलस का करो तुम त्याग त्याग 
क्यों न मेहनत तुम करते हो 
विपदाओं को देखकर 
कोशिश करने से तुम डरते हो। 

सफ़लता को पहनाओ तुम हार हार 
अब तुम क्यों पीछे हटते हो 
मंज़िल तक पहुंचकर 
अपनी किस्मत से अब तुम क्यों लड़ते हो। 

मंज़िल देख रही तुम्हारी राह राह 
अब तुम क्यों चुप बैठे हो 
जीत का सेहरा पहनकर 
अश्को से ख़ुशी बहाते हो। 

क्यों फिरते हो तुम डगर डगर 
क्यों न तुम कुछ करते हो 
सपनो का महल बनाकर 
अंगड़ाई तुम लेते हो।


Previous
Next Post »

No comments:

Post a Comment