plus Poem on Mera Shehar-Jodhpur ~ NR SECRET DIARY

Poem on Mera Shehar-Jodhpur

Poem on Mera Shehar-Jodhpur, poem on my city, poem on Jodhpur City
Poem on Mera Shehar-Jodhpur

कुछ तो अद्भुत मेरे शहर में है 
घोंसला यह शहरवासियों का है 
घरोंदा ये प्यार और अपनेपन का है 
जहा मेहमानो को  माना जाता भगवान है। 

कितना सुसज्जित मेरे शहर का दर्पण है 
जहा मीनारे खुद ही बया करती अपनी कहानी है 
मेहरानगढ़ अपने आप में एक मिसाल कायम किये है 
तो उम्मेद भवन पर्यटकों का बना निवास स्थल है। 

स्वच्छता का वातावरण है 
रंग बिरंगे रंगो का पहना परिधान है 
हर तरफ एक सुखद एहसास है 
क्यूंकि है हम एक दूसरे के लिए तैयार है। 

मिर्चीबड़े यहाँ के बड़े ही लाजवाब है 
तो गुलाब जामुन यहाँ का मिष्टान है 
बालसमंद झील यहाँ की जान है 
तो कायलाना यहाँ की पहचान है। 

जोधपुर शहर रिश्तो की दुकान है 
जहा मिलता प्यार और सम्मान है 
मीठे यहाँ के लोग है 
तो मारवाड़ी से जाना जाता मेरा शहर है। 

Previous
Next Post »

No comments:

Post a Comment