plus Teacher Day Special based on Movie Super३० ~ NR SECRET DIARY

Teacher Day Special based on Movie Super३०


Teacher Day Special based on Movie Super३० , Poem on Teacher Day, Poem based on Teacher
Teacher Day Special based on Movie Super३० 

कभी शिक्षा का ऐसा रूप नहीं देखा है 
जो सुपर ३० फिल्म में दर्शाया है 
उड़ते परिंदो को मिला खुला आसमान है 
हर जज़्बे को मिली कामयाबी की राह है। 

एक गुरु जब शिक्षा की लो जलाता है 
तो क्या सामान्य और उच्च वर्ग को देख के पढ़ाता है 
फिर तो वो एक व्यापारी ही कहलाता है 
जो शिक्षा से कर रहा अपना व्यापार है। 

शिक्षा क्यों पैसो की मोहताज़ है 
क्या इस पर नहीं सबका समान अधिकार है 
फिर क्यों फिर रहे इतने बेरोजगार है 
क्या शिक्षा बन गयी "ऊंची दूकान और फीके पकवान" है। 

शिक्षा दिवस पर बस इतना ही कहना है ------
law of gravity की तरह शिक्षक करे मागदर्शन है 
newton's law से ख्वाबो को दे ऊंचा आसमान है 
पेंडुलम की तरह रखे हर वर्ग को एक समान है 
तभी शिक्षा को मिलेगा एक नया आयाम है। 
और गुरु को मिलेगा सच्चा सम्मान है। 

Previous
Next Post »

No comments:

Post a Comment