plus Love Shayri ~ NR HINDI SECRET DIARY

Love Shayri

बेखबर थे हम दुनिया से
   💓💓💓💓💓💓💓💓

बेखबर थे हम मोहब्बत के चिरागों से
बेखबर थे हम प्यार के पैमानों से
सोचा न था आशिक़ी में वो जाम आया.........

तबस्सुम बन निगाह चूरा गया वो
तड़प बन शब में रुला गया वो
सोचा न था आशिकी में वो जाम आया.......

मुददत से बेठे थे उनके इंतज़ार में
ना कोई ख़त ना कोई पैगाम आया
सोचा ना था आशिकी में वो जाम आया.....
Previous
Next Post »

No comments:

Post a Comment