plus Story In Hindi-वो दौड़ता हुआ हिरन ~ NR HINDI SECRET DIARY

Story In Hindi-वो दौड़ता हुआ हिरन



Moral Story In Hindi, Hindi Kahaniya
Moral Story In Hindi

कभी कभी वक़्त हमसे हमारा सब कुछ छीन रहा होता है तभी एक पशु एक उम्मीद की किरण बन हमारे रास्ते में आ जाता है !! लेकिन क्यों ??

राघव एक मध्यम परिवार से था। उसकी माँ हमेशा उसे कहा करती थी की अपने शौक के लिए कभी किसी जीव की हत्या नहीं करना फिर वो मामूली मछर क्यों नहीं हो और यदि कोई जीव को हम बचा सके तो इससे बड़ा पुण्य और कोई नहीं होता। क्योंकी उसे भी वेदना होती है और उसे भी अपनी तरह जीने का पूरा अधिकार है। 

एक दिन राघव विद्यालय से लोट रहा था उसने देखा कुछ लोग हिरन का शिकार कर रहे थे और उसके पीछे दौड़ रहे थे। कुछ देर बाद हिरन के पैर पे एक गोली लग गयी और वो दर्द से छटपटा रहा था। राघव अपनी नजरे चुराता हुआ हिरन के पास पंहुचा और उसने हिरन को अपने बाजओ में उठाकर उसे एक सुरक्षित स्थान पर रख कर वहा से चला गया  । इधर जब हिरन कही दिखाई नहीं दिया तो वो लोग भी निराश होकर लौट गए। 

आज राघव एक अमीर आदमी बन गया था। सुख रहने के सारे संशाधन उसके पास थे। आज जब वो अपने गांव लौट रहा था तो कुछ लोगो ने उसे घेर लिया। जंगल का रास्ता था तो मदद की गुहार लगाना बेकार था। अब वो क्या करे वो लोग तो उसे मारने पे उतारू थे। तभी जंगल से एक हिरन पता नहीं कहा से आया और उन चार पर भारी पड़ा। इसमें हिरन को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। और वो बेभान होकर राघव के पेरो पे गिर पड़ा तब राघव को २५ साल पुराना किस्सा याद आया जब उसने एक हिरन की रक्षा की थी। आज वो शहर तो सुरक्षित लौट आया पर वो हिरन उसके दिमाग में एक प्रशनचिन्ह छोड़ आया क्या पशु भी अपना क़र्ज़ चुकाते है ??
क्या उनमे में दिल नामक अंग होता है ?? क्या उन्हें भी वेदना होती है ?? अगर हां तो हम मानव इतना निर्मम क्यों है ?? क्यों उनपे अत्याचार करते है ?? अपने शौक के लिए उन्हें मार देते है ?? क्यों ?? क्यों उन्हें काट कर अपना पेट भरते है ?? क्यों ?? 

आज राघव का जानवरो के प्रति उसका प्रेम और भी बढ़ गया क्यूंकि मानव के तरह वो स्वार्थी नहीं होते। इतना ही नहीं उसने कसम खा ली किसी भी जीव को वो अपने हाथो से मारेगा नहीं न ही अपने शौक के लिए न ही अपने पोषण के लिए!!! आज वास्तव में एक पशु ने एक इंसान को ही बदल दिया था !!!!

Previous
Next Post »

No comments:

Post a Comment