plus Masi Maa Jesi-मासी माँ जैसी ~ NR SECRET DIARY

Masi Maa Jesi-मासी माँ जैसी



बात उन दिनों की थी जब रिया गर्मी की छुटिया बिताने नानी घर आयी हुई
थी। आज सुबह से ही वो बहुत उदास थी। सुबह से अब शाम होने को आ
Masi Maa Jesi, Hindi Short Story
Masi Maa Jesi
यी थी और उसका चेहरा और मुरझा गया था। किसी ने उसे ये तक नहीं पूछा बेटा आज इतना उदास क्यों है !! वो खेलने बाहर पार्क में चली गयी पर उसका मन आज कही और लगा हुआ था।  वो बुझे दिल से वापस अंदर आयी तो तो वो वहां द्वार पे ही अचंबित होकर खड़ी रह गयी। पूरा घर रंग बिरंगी रौशनी से सजा हुआ था और मेज़ पर एक सुन्दर केक जो उसकी मासी ने अपने हाथो से बनाया था रखा हुआ था। और सब  उसे जन्मदिन की बधाई दे रहे थे। यह देख रिया बहुत खुश हो गयी और मासी के गले ल
ग गयी। फिर रिया ने कैक काटा और मासी उसके लिए ढ़ेर सारे उपहार लेकर आयी थी। तभी माँ का भी फ़ोन आ गया था तब रिया ने माँ को बताया आज उसकी मासी ने उसके लिए इतने सारे तोहफ़े लेकर आए और इतना प्यारा कैक बनाया। उसने आगे कहा माँ मासी तो बिलकुल आप जैसी है मेरा इतना ध्यान रखती है , यह सुन माँ भी खुद को रोक न पायी और उसके आंख से दो आंसूं छलक पड़े।  


                                         मासी माँ जैसी ही होती है। 
                                      माँ का ही अभिरूप होती है। 

Previous
Next Post »

No comments:

Post a Comment