plus Hindi Poem on Grandfa- दादा तुम अगर साथ होते ~ NR HINDI SECRET DIARY

Hindi Poem on Grandfa- दादा तुम अगर साथ होते

.....दादा तुम अगर साथ होते....

जिंदगी हसाती है 
हर रोज़ नए नग्मे सुनाती है 
फिर एक दिन ओखली में छिप 
तस्वीर बन कर रह जाती है....

फिर ख़ामोशी पहरा देती है 
हर रात वो जगाती है
बीते साथ हर दिन की 
याद वो दिलाती है ....

दिल के रिश्ते ऐसे ही होते है 
किसी के जाने से कहा खत्म होते है 
मिट जाती मिटटी न मिट पाती यादें 
वो सदा के लिए अमर हो जाती है .

 सिमट लिए तेरे तस्वीर से है 
 कभी कभी रो लेते है 
 दादा तेरी कमी को 
हरपल महसूस करते है ...

इन हवाओ से कभी बात कर लेते है 
अपने दिल का हाल चाँद से भी बया करते है 
हमारी आवाज कभी तो पहुचेगी आप तक 
यही सोचकर अपने दिल को मना लेते है....

आपकी कहानी को दुनिया करती सलाम है 
पर नहीं मिल पाया हमे आपका प्यार है 
इसलिए ढूंढते है हमेशा आपको सितारों के बीच 
रहेगा हमेशा इन आँखों को आपका इंतज़ार है ...

Miss u dada
Previous
Next Post »

No comments:

Post a Comment