plus Hindi Kavita Dosti-jindigi ka humsafar ~ NR SECRET DIARY

Hindi Kavita Dosti-jindigi ka humsafar


बहुत से लोग मिलते है जिंदगी में 

कुछ लोग बिछुड़ जाते हमसे तो 
कुछ  लोग छोड़ के चले जाते है              
Hindi Kavita Dosti, hindi poem
Hindi Kavita Dosti

कुछ लोग जलते है हमसे तो 
कुछ लोग हसते है हम पर 
  
        पर 


कुछ लोग ऐसे होते है जो दिल में बस जाया करते है 

जिनका गुस्सा भर चेहरा सपनो में भी झुलसा देता है 
      
       और 

जिनका हसता मुस्कुराता चेहरा ख़ुशी से रुला देता है 

ऐसे दोस्त मिलते है जिन्हे वो खुदा कसम तक़दीर वाले होते है 

       क्यों कि 


ऐसे दोस्त से बिछुड़ना दिल को नसीब नही होता 

खुदा से एक ही ख्वाइश है 
ऐसा दोस्त हर किसी को मिले 
ताकि हर अँधेरी रात के बाद रौशनी का दीप हर दिल के आशियना में जले। 
Previous
Next Post »

2 Comments

Click here for Comments